केवल सच के साथ

6/recent/ticker-posts

Ad Code

Responsive Advertisement

भोजपुर जिला अधिकारी रौशन कुशवाहा ने किया आरा सदर हॉस्पिटल का निरीक्षण, दिए कई दिशा निर्देश


 टीकाकरण केन्द्र - सदर अस्पताल, आरा में लावारिस सेवा केन्द्र में संचालित कोविड-19 से संबंधित टीकाकरण केन्द्र का निरीक्षण किया गया । निरीक्षण के क्रम में काफी संख्या में लोग टीकाकरण के लिए उपस्थित थे । भीड़ की अधिकता को देखते हुए अधीक्षक, सदर अस्पताल, आरा एवं अस्पताल प्रबंधक को निदेश दिया गया कि 18 से 44 वर्ष के व्यक्ति एवं 45 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्तियों को अलग-अलग करते हुए टीकाकरण का कार्य करेंगे, ताकि भीड़ को नियंत्रित किया जा सके। सिविल सर्जन, भोजपुर को निदेश दिया गया कि टीकाकरण के लिए आने वाले व्यक्तिया के बैठने हेतु लावारिस सेवा केन्द्र में टेंट/पंडाल लगवाना सुनिश्चित करेंगे। अस्पताल परिसर/लावारिस सेवा केन्द्र में पर्याप्त मात्रा में पानी एवं साफ-सफाई की व्यवस्था कराने का निदेश अस्पताल प्रबंधक एवं अधीक्षक, सदर अस्पताल, आरा को दिया गया ।

अस्पताल परिसर में महत्वपूर्ण एवं सुगम स्थान पर साईन बोर्ड / फ्लैक्स लगाने का निदेश सिविल सर्जन, भोजपुर दिया गया ताकि अस्पताल में ईलाज कराने हेतु आने वाले मरीजों / परिजनों को ईलाज कराने में कठिनाई न हो। जिला भंडार कक्ष के निरीक्षण के क्रम में पाया गया कि भंडार कक्ष में दवाई का संधारण सही ढंग से नहीं पाया गया । स्टाक पंजी का भी संधारण सही ढंग से नहीं किया गया था।  स्टोर में साफ-सफाई की स्थिति भी काफी दयनीय पायी गयी। सिविल सर्जन, भोजपुर को निदेश दिया गया कि उपरोक्त अनियमितता के लिए सभी संबंधित से 24 घंटे के अंदर स्पष्टीकरण करते हुए मंतव्य सहित प्रतिवेदन देने का निदेश दिया गया। सदर अस्पताल के दवा भंडार गृह का जांच किया गया।  इस केन्द्र पर भी दवाइयों का रख-रखाव की स्थिति काफी दयनीय पायी गयी। पंजियों का संधारण सही ढंग से नहीं किया गया था। उपस्थित प्रभारी को निदेश दिया गया कि तीन दिनों के अंदर सभी दवाइयों का रख-रखाव सही ढंग से करना सुनिश्चित करेंगे। पंजियों का संधारण एवं साफ-सफाई की स्थिति ठीक करेंगे। अस्पताल, अधीक्षक, भोजपुर को निदेश दिया गया कि अपने पर्यवेक्षण में उक्त सभी कार्य ससमय कराना सुनिश्चित करेंगे । सिविल सर्जन, भोजपुर को निदेश दिया गया कि उक्त अनियमितता के लिए दवा केन्द्र के प्रभारी से स्पष्टीकरण की मांग करते हुए मंतव्य सहित प्रतिवेदन उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे। सदर अस्पताल के आपातकालीन कैम्पस में संचालित जन औषधि केन्द्र का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण में पाया गया कि केन्द्र में विभागीय मानक के अनुरूप दवाइयों की उपलब्धता नहीं थी । बल्कि केन्द्र में बाजार से खरीद की गयी अंग्रेजी दवायें उपलब्ध थी । अंचलाधिकारी, आरा सदर को निदेश दिया गया कि अविलंब उक्त केन्द्र को सील करना सुनिश्चित करेंगे । साथ ही अधीक्षक, सदर अस्पताल, भोजपुर को निदेश दिया गया कि संबंधित केन्द्र के संचालक से स्पष्टीकरण पूछते हुए उनके विरूद्ध विभागीय निदेषों की अनदेखी के लिए प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई करेंगे । 

इमरजेंसी वार्ड के निरीक्षण में पाया गया कि कुछ लोग काफी दिनों से अस्पताल में भर्ती हैं। उनका स्वास्थ्य भी बेहतर है परंतु उनके परिवार वालों से संपर्क नहीं हो पा रहा है । अधीक्षक, सदर अस्पताल एवं सिविल सर्जन, भोजपुर को निदेश दिया गया कि उनके परिवार वालों से संपर्क कर उन मरीजों को उनके घर वापस भेजना सुनिश्चित करेंगे। निरीक्षण के क्रम में पाया गया कि इमरजेंसी वार्ड में वार्ड व्बाॅय / ड्रेसर अपने ड्रेस में नहीं थे । अस्पताल के कर्मियों के ड्रेस में नहीं होने से ईलाज कराने हेतु आने वाले मरीजों को काफी परेषानी होती है । ड्रेस में रहने से मरीजों / परिजनों को भी आवष्यकतानुसार संपर्क करने में सुविधा होगी । सिविल सर्जन, भोजपुर को निदेश दिया गया कि आउट सोर्सिंग एजेंसी को सख्त निदेश देंगे कि आउट सोर्सिंग एजेन्सी के तहत नियुक्त सभी कर्मी अपने ड्रेस में रहेंगे। अस्पताल प्रबंधक, सदर अस्पताल, आरा को निदेश दिया गया कि व्यक्तिगत अभिरूचि लेते हुए सदर अस्पताल परिसर में साफ-सफाई की स्थिति, शौचालय की साफ-सफाई, पेय जल की व्यवस्था आदि कराना सुनिश्चित करेंगे । साथ ही व्हाट्सअप ग्रुप में प्रतिदिन तीन बार फोटो षेयर करना सुनिष्चित करेंगे। कोविड वार्ड के निरीक्षण के क्रम में अस्पताल प्रबंधक एवं डी0पी0एम0, सदर अस्पताल, आरा को निदेश दिया गया कि वार्ड की साफ-सफाई की व्यवस्था सही तरीके से कराना सुनिश्चित करेंगे । साथ ही वार्ड का मुख्य द्वार बंद रखने का भी निदेश दिया गया।

Post a Comment

0 Comments